Friday, June 14, 2024
No menu items!
spot_img
spot_img
होमदेशGST काउंसिल : 2022 के बाद भी लगेगा कम्पेनसेशन सेस।

GST काउंसिल : 2022 के बाद भी लगेगा कम्पेनसेशन सेस।

खबर ये आ रही की कम्पेनसेशन सेस को जून 2022 से लग्जरी और कई अन्य तरह की वस्तुओं पर बढ़ाया जाएगा। यह निर्णय राज्य को नुक्सान से बचने के लिए लिया गया है।

thumbnail_jstnews
thumbnail_jstnews

आज की हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक में एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया। जिसमें बताया जा रहा है की  वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल ने यह तय किया है कि लग्जरी और कई अन्य तरह की वस्तुओं पर लगने वाले कम्पेनसेशन सेस को जून 2022 से भी आगे बढ़ाया जाएगा। यह निर्णय राज्य को नुक्सान से बचने के लिए लिया गया है।

sc_jstnews
sc_jstnews

आशंका यह जताई जा रही है कि मुआवजे के लिए केंद्र सरकार के विकल्प को   केवल 20 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश ने स्वीकारा  है। कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के शासन वाले ज्यादातर राज्यों ने केंद्र की पेशकश को ठुकरा दिया है। केंद्र ने आश्वासन दिया था कि इस उधारी को चुकाने के लिए लग्जरी और कई अन्य तरह की वस्तुओं पर लगने वाले कम्पेनसेशन सेस को 2022 से भी आगे बढ़ा दिया जाएगा. नियम के मुताबिक यह जीएसटी लागू होने के बाद सिर्फ पांच साल तक लगना था।

dk-shivakumar_jstnews
dk-shivakumar_jstnews

राज्य की केंद्र सरकार से मांग यह है की राज्य करीब 2.35 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी का बकाया मुआवजा दिया जाए । इसके बदले में केंद्र ने उन्हें उधार लेने के दो विकल्प दिये हैं। लेकिन केंद्र की इस पेशकश को लेकर राज्य बंटे हुए हैं।

nirmala_sitaraman_jstnews
nirmala_sitaraman_jstnews

कुछ इस तरह है मुआवजे का गणित :

राज्यों का करीब 2.35 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी मुआवजा बकाया है, लेकिन केंद्र सरकार का मनना  यह है कि इसमें से करीब 97,000 करोड़ रुपये का नुकसान ही जीएसटी लागू होने की वजह से है, बाकी करीब 1.38 लाख करोड़ रुपये का राजस्व नुकसान कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से है।

क्या है मुआवजे का गणित 

राज्यों का करीब 2.35 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी मुआवजा बकाया है, लेकिन केंद्र सरकार का गणित यह है ​कि इसमें से करीब 97,000 करोड़ रुपये का नुकसान ही जीएसटी लागू होने की वजह से है, बाकी करीब 1.38 लाख करोड़ रुपये का राजस्व नुकसान कोरोना महामारी और लॉकडाउन की वजह से है।

 

- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -spot_img

NCR News

Most Popular

- Advertisment -spot_img