Thursday, June 20, 2024
No menu items!
spot_img
spot_img
होमNCRरिश्वत लेने के मामले में जिला अस्पताल के कनिष्ठ सहायक लिपिक पर...

रिश्वत लेने के मामले में जिला अस्पताल के कनिष्ठ सहायक लिपिक पर लटकी तलवार,जांच में दोषी करार

नोएडा:जिला अस्पताल में कर्मचारियों से रिश्वत लेने के मामले में चल रही जांच में अब नया मोड आने के बाद कनिष्ठ सहायक लिपिक सचिन सैनी पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है।बृहस्पतिवार को आयी दो सदस्यीय टीम ने मामले में जांच पूरी कर रिपोर्ट सीएमएस डॉ. रेनू अग्रवाल को सौंप दी।जांच में सामने आया है कि कनिष्ठ सहायक लिपिक सचिन सैनी ने चिकित्सकों से लाखों रुपये ऐंठे है।अब इसका पूरा ब्योरा तैयार किया जा रहा है कि डॉक्टर व कर्मचारियों से कितने रुपये लिए है।मामले की जांच जिला अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. ततृीय कुमार सक्सेना और डॉ. पंकज त्रिपाठी ने की है। उन्होंने पांच लोगों के बयान दर्ज किए हैं, इनमें दो डॉक्टर, एक फार्मासिस्ट, एक स्टाफ नर्स और एक वाहन चालक शामिल है। इनसे एरियर व रिटायरमेंट का फंड जारी करने के नाम पर लाखों रुपये लिए गए, लेकिन इनका काम नहीं किया गया। सचिन सैनी पिछले कई वर्षों से जिला अस्पताल में कनिष्ठ सहायक लिपिक के पद पर कार्यरत है। 16 दिसंबर को जिला अस्पताल में महिला पैथोलाजिस्ट द्वारा हंगामा करने के दौरान यह प्रकरण सामने आया था। आरोप था कि लिपिक ने पैथोलाजिस्ट का सवा लाख रुपये एरियर निकालने के नाम पर दो हजार रुपये की रिश्वत ली। इस बीच अन्य कर्मचारी भी वहां एकत्र हो गए और लिपिक के पिछले काले-चिट्ठे खोल दिए। लिपिक ने दो वर्ष पूर्व सेवानिवृत्त हो चुकी एक महिला स्टाफ नर्स से भी रिटायरमेंट का फंड जारी करने के नाम पर 20 हजार रुपये लिए, लेकिन आज तक भी उनका काम नहीं किया है। एक फार्मासिस्ट से 10 हजार रुपये लेने के बाद उन्हें भी ठेंगा दिखा दिया। इसके अलावा और भी कई अन्य चिकित्सकों व कर्मचारियों ने अधिकारियों से लिपिक की शिकायत की है।

- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -spot_img

NCR News

Most Popular

- Advertisment -spot_img