Thursday, June 20, 2024
No menu items!
spot_img
spot_img
होमलाइफस्टाइलआसानी से वजन घटाने के लिए फॉलो करें Buddhist Diet, जानें क्‍या...

आसानी से वजन घटाने के लिए फॉलो करें Buddhist Diet, जानें क्‍या खाएं और क्‍या नहीं

बौद्ध डाइट एक एशियाई आहार है, जो आमतौर पर बौद्ध धर्म के भिक्षुओं द्वारा फॉलो किया जाता है। यह आहार पूरी तरह शाकाहारी होता है और बहुत से लोग बौद्ध डाइट का पालन करते हैं। बौद्ध आहार के कुछ नियम हैं। यह डाइट अपनाने वाले व्यक्ति को पूरी तरह शाकाहारी भोजन करना चाहिए। साथ ही मांस खाने और शराब पीने से बचना चाहिए।

diet_jstnews
diet_jstnews

दरअसल, बौद्ध डाइट सेहत के लिए अच्छी मानी जाती है। यह तन और मन दोनों को शुद्ध रखती है। सेहत और फिटनेस को लेकर सक्रिय रहने वाले अधिकांश लोग बौद्ध डाइट अपनाते हैं। आइए जानते हैं क्या है बौद्ध डाइट? इस डाइट में कौन सी चीजें हैं शामिल।

बौद्ध डाइट क्या है?
buddha_jstnews
buddha_jstnews

बौद्ध डाइट पूरी तरह से शाकाहारी आहार है। इसमें पौधों से जुड़े भोजन जैसे शाक-सब्जियां शामिल होती हैं। इस डाइट में मांस, मछली, मुर्गी, प्याज और लहसुन पूरी तरह प्रतिबंधित है। बौद्ध डाइट का मूल सिद्धांत सही समय पर, सही मात्रा में स्वस्थ भोजन करके एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाना है। कई धर्मों की तरह बौद्ध डाइट में भी कुछ चीजों का सेवन वर्जित है। बौद्ध शाकाहार, उपवास और शराब से परहेज इन तीन नियमों का पालन करते हैं।

शाकाहार
greens_jstnews
greens_jstnews

इसमें फल, सब्जियां, अखरोट, बीज, हेल्दी ऑयल और फलियां शामिल है। इन खाद्य पदार्थों में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। बौद्ध धर्म में जानवरों को मारने और मांस का सेवन करने पर प्रतिबंध है।

उपवास
nourishing_jstnews
nourishing_jstnews

बौद्ध धर्म में उपवास का अर्थ इंटरमिटेंट फास्टिंग से है। इसमें इस बात पर फोकस किया जाता है कि आपको आहार किस समय और कितनी मात्रा में लेना है। बौद्ध दोपहर के भोजन से लेकर अगले दिन की सुबह तक भोजन और पेय पदार्थों से परहेज करते हैं। यह इंटरमिटेंट फास्टिंग की तरह होता है। बौद्ध इसे आत्म-नियंत्रण का तरीका मानते हैं।

शराब से परहेज
diett_jstnews
diett_jstnews

बौद्ध डाइट का एक अन्य जरूरी सिद्धांत है शराब के सेवन से परहेज। शराब एक मादक पदार्थ है और बौद्ध धर्म में इसका सेवन वर्जित है।

बौद्ध डाइट में शामिल खाद्य पदार्थ
nourishing_jstnews
nourishing_jstnews

सेब, केला, जामुन, सेब और खट्टे फल।
ब्रोकोली, हरी बीन्स, शिमला मिर्च, टमाटर जैसी सब्जियां।
काली बीन्स, दाल, किडनी बीन्स और छोले जैसी फलियां।
होल ग्रेन जैसे चावल, ओट्स और क्विनोआ।
अखरोट, बीज, ऑलिव ऑयल, एवोकैडो ऑयल और अलसी का तेल।

बौद्ध डाइट में इन खाद्य पदार्थों से है परहेज
diet_jstnews
diet_jstnews

अंडा
डेयरी
मांस
मछली
मसाले
शराब

बौद्ध डाइट के फायदे

बौद्ध आहार में फल, सब्जियां, हेल्दी ऑयल और फलियां शामिल होती हैं। इससे मोटापा, हृदय रोग, डायबिटीज और अन्य क्रोनिक डिजीज का खतरा कम होता है।
एक स्टडी के अनुसार, बौद्ध लंबे समय तक शाकाहारी भोजन का सेवन करते हैं। इसके कारण उनका बॉडी फैट कम होता है और वजन नहीं बढ़ता है।
बौद्ध धर्म के लोग शराब का सेवन नहीं करते हैं, जिससे वे स्वस्थ रहते हैं।

बौद्ध डाइट के नुकसान

चूंकि बौद्ध लोग मांस, अंडा और डेयरी उत्पादों का सेवन नहीं करते हैं, इसलिए उनके शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। उपवास बौद्ध आहार का एक मुख्य सिद्धांत है। लंबे समय तक भूखा रहने से कमजोरी हो सकती है।

- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -spot_img

NCR News

Most Popular

- Advertisment -spot_img